California
broken clouds
19.1 ° C
20.1 °
17.6 °
67 %
1.3kmh
75 %
Tue
19 °
Wed
18 °
Thu
17 °
Fri
18 °
Sat
17 °
California
broken clouds
19.1 ° C
20.1 °
17.6 °
67 %
1.3kmh
75 %
Tue
19 °
Wed
18 °
Thu
17 °
Fri
18 °
Sat
17 °
Tuesday, October 26, 2021

MP board 10th and 12th exam pattern changed; Objectives will be of 40 marks, also applicable from quarterly examination | 10वीं और 12वीं की परीक्षा का पैटर्न बदला; ऑब्जेक्टिव 40 अंक के होंगे, तिमाही परीक्षा से भी लागू


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • MP Board 10th And 12th Exam Pattern Changed; Objectives Will Be Of 40 Marks, Also Applicable From Quarterly Examination

भोपालएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश (MP बोर्ड) की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में पास और आसान हो गया है। रिजल्ट को बेहतर करने के लिए MP बोर्ड ने सत्र 2021-22 से परीक्षा का पैटर्न बदल दिया है। प्रश्न पत्र में अब 40% अंकों के ऑब्जेक्टिव प्रश्न होंगे। पास होने के लिए 33 अंक जरूरी होते हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बताया कि नई शिक्षा नीति के अनुसार MP बोर्ड की परीक्षाओं के पैटर्न में बदलाव किया गया है।

MP बोर्ड 10वीं और 12वीं के रिजल्ट को सुधारने के लिए कई सालों से प्रयोग कर रहा है। इससे पहले बोर्ड ने 10वीं में बेस्ट आफ फाइव लागू किया गया था। इसमें अगर कोई छात्र एक विषय में फेल भी हो गया और अन्य 5 में पास है, तो वह पास माना जाता है। इसमें 9वीं और 10वीं के छात्रों के 6 विषय की परीक्षा परिणामों की गणना 5 विषय की ही होती है। इसके अनुसार 5 विषयों में जिसमें सबसे अधिक अंक वाले विषयों के आधार पर रिजल्ट तैयार किया जाता है। इस कारण दसवीं के परिणाम में सुधार, तो हुआ लेकिन छात्र 6 की जगह सिर्फ पांच विषयों में रुचि लेने लगे। इससे गणित और अंग्रेजी विषय पर अधिकांश छात्रों ने ध्यान देना कम कर दिया।

इस तरह होगा पेपर
बोर्ड की पाठ्यचर्या समिति की बैठक में हुए निर्णय के बाद 10वीं और 12वीं के प्रश्न-पत्र में ऑब्जेक्टिव प्रश्न 40% करा दिए गए। यह पैटर्न सत्र 2021-22 से यानी इसी सत्र से लागू कर दिया गया। अभी तक 10वीं-12वीं परीक्षा में 25% अंकों के ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाते थे। नए ब्लू प्रिंट को लोक शिक्षण द्वारा 24 सितंबर से आयोजित की जाने वाली तिमाही परीक्षा में लागू भी कर दिया है।

यह रहेगा नया स्वरूप

  • हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी में मूल्यांकन 80 अंक सैद्धांतिक एवं 20 अंक प्रायोगिक/ प्रोजेक्ट के लिए रहेंगे।
  • हायर सेकेंडरी में मूल्यांकन प्रायोगिक विषयों में 70 अंक सैद्धांतिक एवं 30 अंक प्रायोगिक के लिए रहेंगे।
  • हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी के सभी विषयों के सैद्धांतिक प्रश्न पत्र में 40% वस्तुनिष्ठ प्रश्न, 40% विषय आधारित प्रश्न एवं 20% विश्लेषणात्मक प्रश्न होंगे।
  • सत्र 2022-23 में कक्षा 10वीं एवं 12वीं में दो पृथक-पृथक प्रश्न पत्र (गायन वादन, तबला पखावज) बनाए जाएंगे।
  • हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी में भारतीय संगीत विषय अंतर्गत सत्र 2021-22 में 9वीं एवं 11वीं में दो पृथक-पृथक प्रश्न पत्र (गायन वादन, तबला पखावज) बनाए जाएंगे।

खबरें और भी हैं…

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here