California
broken clouds
19.1 ° C
20.1 °
17.6 °
67 %
1.3kmh
75 %
Tue
19 °
Wed
18 °
Thu
17 °
Fri
18 °
Sat
17 °
California
broken clouds
19.1 ° C
20.1 °
17.6 °
67 %
1.3kmh
75 %
Tue
19 °
Wed
18 °
Thu
17 °
Fri
18 °
Sat
17 °
Tuesday, October 26, 2021

People walk barefoot by digging a trench two and a half feet wide and eight feet long. | मन्नत पूरी होने पर करते हैं चुल, 8 फीट लंबी-ढाई फीट चौड़ी खाई खोद नंगे पांव चलते हैं लोग


मंदसौर30 मिनट पहले

खोदी गई खाई में चलते अंगारे।

मंदसौर जिले के सीतामऊ के भगोर गांव में नवरात्रि के अंतिम दिन नवमी को माता विदाई के साथ चुल के आयोजन किया गया। ग्रामीण इसे वाड़ी विसर्जन कहते हैं। आस्था और भक्ति के कई रूपों में यह भी एक रूप है, जहां भक्त अंगारों पर चलकर भक्ति की अग्नि परीक्षा देते हैं।

नवरात्रि में घट स्थापना से लेकर नवमी तक श्रद्धालु मां की आराधना करते हैं। इन दिनों यहां गरबा, रास और अन्य कार्यक्रम आयोजित होते हैं। नवरात्रि के अंतिम दिन माता के विसर्जन के दौरान दिनभर हवन-पूजन का कार्यक्रम होता है। इसके बाद शाम को चुल का आयोजन किया जाता है, जिसे ग्रामीण वाड़ी विसर्जन कहते हैं। इसमें ऐसे लोग अंगारों पर से चलते हैं, जिनकी मांगी हुई मन्नत पूरी हो जाती है।

जलते अंगारों से निकलते लोग।

जलते अंगारों से निकलते लोग।

अंगारों के लिए तैयार की जाती है चुल

नवमी के दिन करीब ढाई फीट चौड़ी और आठ फीट लंबा गड्‌ढा खोदा जाता है। इसमें सूखी लकड़ियां डालकर दहकते अंगारों में परिवर्तित किया जाता है। इसके बाद ग्रामीण इसमें देशी घी डालकर अंगारों को दहकया जाता है। इसके बाद माता के भक्तों इन दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलते हैं।

अब तक नहीं हुआ हादसा

आस्था के अंगारों पर आज तक कभी कोई भक्त न तो चोटिल हुआ है और न ही कोई दुर्घटना हुई है। भक्तों में आस्था भी ऐसी है कि दहकते अंगारों पर बच्चे भी बेखौफ होकर निकल जाते हैं। जिला मुख्यालय सहित कई ग्रामीण इलाकों में इस तरह का आयोजन होता है।

खबरें और भी हैं…

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here